ज्योतिष में दशम भाव

Tenth House in Astrology

कारक
बुध,गुरुभाग्य
सूर्य अधिकार व पद
शनि नौकरी व आजीविका
लक्षण
स्थूलव्यवासय
सूक्ष्मप्रतिष्ठा

प्रेम, संबंध, कैरियर या धन की समस्याएं। सर्वश्रेष्ठ ज्योतिषियों से परामर्श करें।

रिश्तों का सूचक-

दत्तक पुत्र, मामी, मौसी।

शरीर के अंग-

घुटना बाईं जांघ, बायां भाग, घुटने की चक्की का गड्ढा, बाईं नासिका- छिद्र।

द्रक्कन कुण्डली के अनुसार-

(अ) बाईं नासिका-छिद्र,
(ब) धड़ का बायां भाग,
(स) बाईं जांघ।कर्मस्थान, जीवनोपाय, प्रख्यातिभाव।

आचार्य अनुपम जौली से सलाह लें

    10th House in Astrology

    तनभावका प्रतीक –

    व्यवसाय (चर राशि-महात्वाकांक्षा, यश, पहचान और जातक को स्व- मान्यता की ओर संकेत करता है। स्थिर राशि-स्थिरता, दृढ़ निश्चयी, आत्म निर्भर, धैर्य, उद्देश्यों में स्थिरता जो कि व्यवसाय के लिए आवश्यक है –
    की ओर संकेत करता है। सामान्य राशि-नौकरी को संकेत करता है।), कर्म, विदेश यात्रा, प्रतिष्ठा, समृद्धि, राजनैतिक शक्ति, सम्मान, गरिमा, आदर, पद, सरकारी नौकरी, सफलता, स्थति, यश, शोहरत/उन्नति, सामाजिक स्तर, पिता, माता – पिता के लिए मारक, मुकदमा, व्यापार व वाणिज्य, नैतिकता, संसार से निवृति, अधिकार, कार्यवाई, चुनाव, नियंत्रण।

    Follow us

    Don't be shy, get in touch. We love meeting interesting people and making new friends.

    error: Content is protected !!