राशिफल 2021, वार्षिक राशिफल 2021 – आचार्य अनुपम जौली

राशिफल 2021 आपके प्रेम, स्वास्थ्य, विवाह, करियर, धन और परिवार के लिए क्या लेकर आने वाला है। यह जानने के लिए हिंदी में पढ़ें अपना वार्षिक राशिफल 2021 आचार्य अनुपम जौली के साथ l

मेष (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)

मेष

स्वास्थ्य : इस वर्ष स्वास्थ्य सम्बन्धी छोटी बड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है अत: संभलकर जीवन यापन करें l हालाँकि वर्षारम्भ में स्वग्रही मंगल उच्च आत्मविश्वास और स्वास्थ्य प्रदान करने वाला साबित होगा l द्वितीय भाव का राहू खान पान की अनियमितता और जंक फ़ूड के सेवन का योग बनाता है जो की स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है l अष्टम केतु एक्सीडेंट की सम्भावना बनाता है l

आजीविका व आर्थिक स्थिति :

बृहस्पति का मकर राशी और कुम्भ राशि से संचरण क्रमश: आर्थिक उन्नति का द्योतक है अत: इस वर्ष कुछ समय बृहस्पति का नीच राशिगत होने से कुछ उतार चड़ाव के साथ नौकरी और धन दोनों में उन्नत्ति संभव है l नौकरी में परिवर्तन और तनख्वाह में बढोत्तरी के भी योग बन रहे है l व्यापार में नए व्यापारिक प्रस्ताव प्राप्त होंगें l पार्टनरशिप बिज़नस के भी प्रपोजल प्राप्त होंगें l

परिवार व सामाजिक स्थिति : वैसे तो समय समय पर परिवार में अशांति का वातावरण बनता रहेगा पर आप अपनी सूझबूझ से उसे ठीक भी कर लेंगें l इस वर्ष संतान सुख के भी योग बन रहे है l अविवाहित युवक युवतियों के लिए अप्रैल से सिंतंबर और नवेम्बर और दिसम्बर में शादी के योग बन रहे है l

वर्ष को बेहतर बनाने के उपाय : परिवार के बुजुर्गों का आशीर्वाद प्राप्त करें l अपने गुरु और कुल की परम्पराओं का आदर करें l गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ करें l

वृषभ (ई, , , , वा, वी, वू, वे, वो)

वृषभ

स्वास्थ्य : इस वर्ष दांतों से सम्बंधित रोग परेशान कर सकते है l इन्फेक्शन और गठिया सम्बन्धी बिमारियों को लेकर सावधान रहना होगा l

आजीविका व आर्थिक स्थिति : नौकरी में शत्रुवर्ग से परेशानियों का अनुभव हो सकता है l नौकरी सम्बन्धी चिंताएं बनी रहेगी l इस वर्ष किसी नए बिज़नस में भाग्य आजमाया जा सकता है l पैतृक कार्यों में उन्नत्ति के योग बन रहे है l जमीन मकान या वाहन की खरीद हो सकती है l

परिवार व सामाजिक स्थिति : इस वर्ष पारिवारिक सहयोग मिलेगा l खासकर पिता के सहयोग से कार्यों में उन्नत्ति के भी योग बन रहे है l जीवनसाथी का गुस्सा कुछ मात्रा में अधिक ही रहेगा l सामाजिक कार्यों में भी सहभागिता बढेगी l

वर्ष को बेहतर बनाने के उपाय : चिड़ियों कबूतरों को दाना डालें l शनि मंदिर में शनिवार को सरसों का तेल चढ़ाएं l दुर्गा चालीसा का पाठ करें l

मिथुन (का, की, कू, , , , के, को, ह)

मिथुन

स्वास्थ्य : साल के आरम्भ में और साल के अंतिम महीने में स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहे l कुम्भ राशी का बृहस्पति वैसे तो स्वास्थ्य का बचाव करेगा साथ ही कुछ मोटापा भी अवश्य देगा अत: सुबह की सैर अपनी दिनचर्या में शामिल करें l

आजीविका व आर्थिक स्थिति : साल के आरम्भ में नया निवेश जोखिमपूर्ण रहेगा l अत्यधिक खर्चे बने रहेंगें l अचानक से लाभ व हानि के योग बने हुए है l नौकरीपेशा लोगों को कुछ परेशानियों के साथ नौकरी में स्थायत्व की प्राप्ति होगी l

परिवार व सामाजिक स्थिति : परिवार में प्रेम बना रहे इसके लिए अपनी वाणी पर संयम बरते l समाज में आपके कार्यों की प्रशंसा होगी l

वर्ष को बेहतर बनाने के उपाय : कनकधारा स्तोत्र का पाठ करें व शानि मंदिर में काले उड़द व सरसों का तेल चढ़ाएं l

कर्क (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)

कर्क

स्वास्थ्य : पीठ और पेट सम्बन्धी रोग और परेशानियाँ बढ़ सकती है l

आजीविका व आर्थिक स्थिति : जमीन मकान इत्यादि पर इन्वेस्ट कर सकते है l आय के नवीन स्त्रोतों का सृजन होगा l पार्टनरशिप में कार्य सफलता से चलेंगे और लाभ भी होगा l शिक्षा में अडचने बनी रहेंगीं l

परिवार व सामाजिक स्थिति : अपने जिद्दी स्वभाव पर नियंत्रण रखें l

वर्ष को बेहतर बनाने के उपाय : चिड़ियों कबूतरों को दाना डालें l शिवजी की उपासना करें l

सिंह (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)

सिंह

स्वास्थ्य : इस वर्ष स्वास्थ्य का पाया ठीक ठाक है फिर भी मानसिक चिंताए बनी रहेगी l ब्लड प्रेशर आदि की समस्या उभर सकती है l

आजीविका व आर्थिक स्थिति : कार्यक्षेत्र में विस्तार हेतु उधार लेने के योग बन रहे है l पिछली की हुई मेहनत अब रंग लाएगी l आर्थिक उन्नत्ति के योग बन रहे है l

परिवार व सामाजिक स्थिति : परिवार में कुछ असंतोष बना रहेगा l मित्रों का सहयोग प्राप्त होगा और नए मित्र बनेगें l

वर्ष को बेहतर बनाने के उपाय :  हनुमान चालीसा का पाठ नित्य करें l

कन्या (ढो, पा, पी, पू, , , , पे, पो)

कन्या

स्वास्थ्य : स्वास्थ्य कुल मिलकर ठीक रहेगा l छोटी मोटी समस्याए आएँगी और उनका समाधान भी हो जायेगा l

आजीविका व आर्थिक स्थिति : छोटी मोटी यात्रायें बनी रहेगीं l शिक्षा में आ रहे अवरोध इस वर्ष समाप्त होंगें l कार्यक्षेत्र में विस्तार और निवेश के योग बन रहे है l

परिवार व सामाजिक स्थिति : मित्रों से संबंधों में खटास आ सकती है l किसी खास मित्र से कुछ धोखा मिल सकता है l परिवार में प्रेम बढेगा l

वर्ष को बेहतर बनाने के उपाय : माँ काली की उपासना सब प्रकार से सुख देगी l

तुला (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)

तुला

स्वास्थ्य : इस वर्ष स्वास्थ्य में पेट सम्बन्धी समस्याए परेशान करती रहेगीं l मोटापा, लीवर और डायबिटीज जैसी बिमारियों से सावधान रहना होगा l  हालाँकि कोई बहुत बड़ी समस्या नहीं होगी l

आजीविका व आर्थिक स्थिति : पिछली की हुई मेहनत रंग लाएगी l इस वर्ष आमदनी बढ़ने के योग है l व्यावसायिक दुश्मन बने रहेंगें l एक से ज्यादा आय के स्तोत्र बनेंगें l कार्यक्षेत्र भविष्य के प्लान को गोपनीय रखना ही लाभकारी रहेगा l

परिवार व सामाजिक स्थिति : परिवार में कुछ असंतोष बना रहेगा l अपनी वाणी पर संयम बरतना होगा l भाइयों और बहनों से भरपूर सहयोग मिलेगा l कुछ मित्रों से जिनसे कड़वाहट चल रही थी इस वर्ष अप्रैल के बाद समाधान प्राप्त होगा l

वर्ष को बेहतर बनाने के उपाय : गुरु या कुलगुरु की सेवा करें l शिव उपासना करें l चाँदी का चौकोर पतरा जेब में रखें l

वृश्चिक (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)

वृश्चिक

स्वास्थ्य : अपने क्रोध पर नियंत्रण रखें l दांतों सम्बन्धी रोग कष्ट दे सकते है l मानसिक चिंताएं हावी रहेंगीं l

आजीविका व आर्थिक स्थिति : नौकरी और नए कार्यों में उन्नत्ति के योग बन रहे है l नौकरी में परिवर्तन, प्रमोशन इत्यादि की भी सम्भावनाएं बन रही है l स्थान परिवर्तन और यात्राओं के योग बन रहे है l

परिवार व सामाजिक स्थिति : परिवार में चली आ रही समस्या का समाधान प्राप्त होगा l जमीन, मकान सम्बन्धी मामले सुधरेंगें l छोटी बढ़ी यात्राये बनी रहेगी l परिवार में मांगलिक कार्य भी सम्पन्न हो सकता है l

वर्ष को बेहतर बनाने के उपाय : गणपति जी की उपासना शुभ लाभकारी रहेगी l ॐ गं गणपतये नम:l का जाप करें l

धनु (ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)

धनु

स्वास्थ्य : इस वर्ष स्वास्थ्य सम्बन्धी सुधार होगा l विगत में आ रही समस्याओं का हल मिलेगा l खान पान पर संयम रखें l  

आजीविका व आर्थिक स्थिति : आर्थिक उन्नत्ति के योग बन रहे है l व्यापारिक यात्रायें बनी रहेगी l अनावश्यक खर्चों के योग बन रहे है l

परिवार व सामाजिक स्थिति : भाइयों से सम्बंधित चिंताएं बनी रहेगी l अविवाहित युवक और युवतीओं का विवाह सम्पन्न होने के योग बन रहे है l इस वर्ष धार्मिक यात्राओं के योग बन रहे है l

वर्ष को बेहतर बनाने के उपाय : हनुमान चालीसा का पाठ निरंतर करें l

मकर (भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)

मकर

स्वास्थ्य : अप्रैल तक कुछ समस्याएँ बनी रहेगी l इस वर्ष हड्डियों सम्बन्धी समस्याएं परेशान कर सकती है l

आजीविका व आर्थिक स्थिति : नौकरी में आ रही समस्या का समाधान प्राप्त होगा l शत्रुवर्ग में बढोत्तरी होगी l बिज़नस में संघर्ष बढेगा खासकर पार्टनरशिप बिज़नस में l

परिवार व सामाजिक स्थिति : भाई बहनों से संबंधों में कुछ खटास बनी रहेगी l पारिवारिक चिंताएं बनी रहेगी l वैवाहिक जीवन में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है l घर के बुजुर्गों का सहयोग प्राप्त होगा l

वर्ष को बेहतर बनाने के उपाय : माँ दुर्गा की पूजा आपके मनोरथों को पूरा करेगी l

कुंभ (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)

कुंभ

स्वास्थ्य : स्वास्थ्य पर कुछ न कुछ खर्चे होते रहेंगें अत: स्वास्थ्य को लेकर सतर्क रहें l खान पान पर नियंत्रण रखें l घुटनों सम्बन्धी समस्यों का सामना करना पड़ सकता है l

आजीविका व आर्थिक स्थिति : यह वर्ष नौकरी और बिज़नस दोनों के लिए शुभ लाभकारी है l बिज़नस और पार्टनरशिप के नए ऑफर आयेंगें l कार्यक्षेत्र में परिवर्तन के भी योग बन रहे है l

परिवार व सामाजिक स्थिति : वैसे तो परिवार का सहयोग बना रहेगा परन्तु साथ ही साथ परिवार सम्बन्धी कुछ चिंताए भी बनी रहेगी l

वर्ष को बेहतर बनाने के उपाय : प्रत्येक शनिवार को शनि मंदिर में तेल चढ़ाये l

मीन (दी, दू, , , , दे, दो, चा, ची)

मीन

स्वास्थ्य : इस वर्ष स्वास्थ्य के प्रति आपको सचेत रहना होगा l स्वास्थ्य में कुछ न कुछ समस्याएँ बनी रहेगी l

आजीविका व आर्थिक स्थिति : इम्पोर्ट एक्सपोर्ट सम्बन्धी कामों का विस्तार होगा l ट्रांसपोर्ट से सम्बंधित बिज़नस में बहुत लाभ रहेगा l नौकरी में भी मल्टीनेशनल कम्पनी के योग बन रहे है l

परिवार व सामाजिक स्थिति : जमीन, मकान सबंधी कार्य संपन्न होंगें l ऋण बढ़ने के योग बन रहे है l

वर्ष को बेहतर बनाने के उपाय : प्रत्येक बृहस्पतिवार को गुड और चने की दाल गाय को डालें l

Acharya Anupam Jolly

आचार्य अनुपम जौली, यह नाम किसी परिचय का मोहताज नहीं है और अब आचार्य जी ने रमल शास्त्र पर अपनी कुछ अत्यंत विशिष्ट खोज करके यह साबित कर दिया कि कालांतर में विलुप्त हो चुकी हमारी अद्भुत एवं दिव्य ज्ञानवर्धक विद्यायें हमारे लिए बेहद लाभदायक थीं। जिन्हें अल्पज्ञान के चलते आप और हम नजऱ अन्दाज कर बैठे हैं।

Add comment

Follow us

Don't be shy, get in touch. We love meeting interesting people and making new friends.

error: Content is protected !!